February 10, 2014

The Angry Young Man of TISA...who???

So, guys..guys....do you know who is this Angry young man of TISA,who have the same fire in his eyes as do Amitabh bachchan used to have in all his 80's blockbuster movies??

Arre aur kaun (who else)...our very own Mr.hemant jangid...ha ha ha :-)

No offense, hemant ji....we love you all....but you know, your posts and especially comments........i can't stop my self from making this declaration......I hope you will also have a smile...a big smile after reading it...lolzzz

3 comments:

sachin said...

I am sure Hemant too will have a good laugh about it..
If not, then, Ashish, watch out !

Amitsingh Kushwah said...

श्री हेमन्त जांगिड़ जी, टीसा के सक्रिय साथी हैं। टीसा को बहुत सहयोग और योगदान दे रहे हैं।

Hemant Kumar 靈氣 said...

@आशीष जी, मुझे Angry young man घोषित करने के लिये धन्यवाद। वैसे भी किसी शायर ने कहा है -
दिलों मे तुम अपनी बेताबियाँ लेकर चल रहे हो ,
तो जिंदा हो तुम ;
नज़र मे ख्वाबों की बिजलियाँ लेकर चल रहे हो ,
तो जिंदा हो तुम ;
जो अपनी ऑखों मे हैरानियाँ लेकर चल रहे हो ,
तो जिंदा हो तुम ।।

@ Sachin sir, I am smiling, not angry,
निंदा या स्तुति से अगर आपकी मानसिक शांति भंग होती है तो इसका मतलब है कि अभी Acceptance अधूरा ही है । वैसे भी अगर किसी और के दिमाग मे आपके पक्ष में या विपक्ष मे "उथल-पुथल" मची है चाहे वो स्व-प्रेरित हो या दिग्भ्रमित हो तो ये उसकी समस्या है ना कि आपकी । No body can snatch your peace of mind from you , till you not allow.

वैसे भी मतभेद हो सकते हैं , मन-भेद नहीं होने चाहिये |