November 3, 2013

उजाला - कहानी

आज 3 नवम्बर, 2013 के पत्रिका न्यूजपेपर पर मेरे द्वारा लिखी गई एक कहानी ‘‘उजाला’’ शीर्षक से प्रकाशित हुई है। एक हकलाने वाले युवक के जीवन में यह दीपावली क्या सकारात्मक परिवर्तन का सन्देश लेकर आती है जानने के लिए पढि़ए यह कहानी।

http://epaper.patrika.com/180521/Patrika-Satna/03-11-2013#page/14/1


अमितसिंह कुशवाह,
सतना, मध्य प्रदेश (भारत) 
मोबाइल - 093009-39758

3 comments:

sachin said...

Small but beautiful! A deep message...

sachin said...

बहुत अच्छी कहानी लगी . धन्यवाद

jasbir singh said...

Excellant Amit ji. We need this urge. Keep the fire burning.