May 14, 2012

Report-Cum-Keynotes of TISA Delhi SHG, 13th May 2012

बाएं से दायें:  नितिन, प्रभात, अनूप नागरथ, अमित दीक्षित, चन्दन, और जितेंदर & सचिन ( Mr. india के रूप में)




जैसा की आमतौर पर होता है मीटिंग की शुरुआत परिचय से हुई. परिचय के साथ ही हम सबने अपना आज को motto तय कर लिया की आज हम किस टेक्निक का प्रयोग करेंगे. 

परिचय देने के बाद हम सबने स्टैमरिंग से सम्बंधित कोई एक नेगिटिव या पॉजिटिव ताज़ा अनुभव शेयर किया. जिसमे मेरे अनुभव का निष्कर्ष यह था की अगर लोग स्टैमरिंग के प्रति जागरूक (aware) हो तो वे हमें अपना पूरा सपोर्ट देते हैं, अर्थात हमें लोगो को स्टैमरिंग के बारे में अधिक से अधिक जागरूक करना होगा.
आमतौर पर हम सभी स्लो स्पीच टेक्निक का अर्थ धीरे बोलने से लगाते हैं, हालाँकि यह सही भी है लेकिन हम स्लो स्पीच के प्रकार पर बिलकुल ध्यान नहीं देते , आज की मीटिंग में में अमित दीक्षित सर (और अनूप सर) ने स्लो स्पीच के प्रकार पर भी चर्चा की जिससे तीन प्रकार के स्लो स्पीच सामने आये,
पहला यह की बोलते या पढ़ते वक़्त किसी शब्द के हर अक्षर के बाद पॉज लिया जाये जैसे की-  स लो   स पी च   का   प ह ला   स व रु प.
इसका इसका इस्तेमाल  उस वक़्त किया जा सकता है जब हमारी स्टैमरिंग गंभीर अवस्था में हो.
दूसरा यह की बोलते या पढ़ते वक़्त किसी वाक्य के हर शब्द के बीच पॉज लिया जाये,  जैसे की-  स्लो    स्पीच    का    दूसरा    स्वरुप.
इसका इस्तेमाल हम हम साधारण स्टैमरिंग होने पर किया जा सकता है, और इसका अभ्यास हम बुक रीडिंग के वक़्त काफी अच्छे से कर सकते तीसरा यह की बोलते या पढ़ते वक़्त हम किसी अनुच्छेद के हर वाकया के बीच पॉज लें. इसका इस्तेमाल हम हर वक़्त कर सकते हैं, चाहे हमें स्टैमरिंग हो रही हो या न हो रही हो.  इसे हम डिप्लोमैट स्टाइल ऑफ़ स्पीच भी  कह सकते है क्योंकि डिप्लोमैट्स भी अक्सर बड़े आराम से धीरे धीरे सोचकर बात करते हैं और काफी लम्बे पॉज लेते हैं ताकि उनकी ज़बान न फिसल जाये. 
हमें हर वक़्त स्लो स्पीच में बोलने की आदत डालनी चाहिए क्योकि किसी भी टेक्निक को याद करके उसका प्रयोग नहीं किया जा सकता हमें हर टेक्निक का अभ्यास करना पड़ता है.
इसके बाद हम सभी ने बारी बारी से स्लो स्पीच और अन्य टेक्निक्स का प्रयोग करते हुए बुक रीडिंग की प्रैक्टिस की जिसमे अमित सर ने स्लो स्पीच की और नितिन गर्ग ने बाउंसिंग की बहूत बढ़िया मिशाल पेश की.

हमारी अगली एक्टिविटी क्रेजी क्वेश्चन की थी जिसका उद्देश्य यह था की हम बोलने के साथ गुड लिसनर बने और किसी बात पर ध्यान केन्द्रित करना सीखें क्योंकि आमतौर पर हम किसी की बात ध्यान से नहीं सुनते बल्कि यह सोचते रहते हैं की मैं कैसे और क्या बोलूँगा?  जो की एक good communicator निशानी नहीं है.  जबकि क्रेजी क्वेश्चन एक्टिविटी में आपको हर बात ध्यान से सुन कर याद रखनी पड़ती है अन्यथा आप इस खेल में हर जायेंगे. इस एक्टिविटी में कोई एक व्यक्ति किसी अन्य व्यक्ति से एक प्रश्न पूछता है लेकिन दूसरा व्यक्ति उसका कोई जवाब नहीं देता तथा जब उससे दूसरा प्रश्न पूछा जाता है तब वह पहले प्रशन का उत्तर देता है. इसी प्रकार यह एक्टिविटी आगे बढती रहती है. 

अगली एक्टिविटी स्टोरी क्रिएसन की थी इसमे कोई एक व्यक्ति कोई स्टोरी शुरू करता है तथा अन्य उसके आधार पर अपनी ओर से उसमे कुछ जोड़कर कहानी बनाते चले जाते हैं. इस एक्टिविटी का सबसे मज़ेदार पहलू यह है की इस एक्टिविटी में जो स्टोरी क्रिएट होती है वह बहुत ही मज़ेदार होती है और किसी को कुछ पता नहीं होता की अगले ही पल स्टोरी कौन सा ट्विस्ट लेगी यानि सस्पेंस बना रहता है. 

अगली एक्टिविटी ROLE PLAY की थी इसमे हमने अपने ग्रुप को दो छोटे छोटे ग्रुपों में बाँट दिया जिसमे पहला ग्रुप interviewer का था तथा दूसरा ग्रुप कैंडिडेट्स का था, interviewer ने सभी कैंडिडेट का interview लिया.  क्योंकि अनूप सर एक रियल interviewer और recruiter हैं तो इसलिए यह एक्टिविटी बहूत ही ज्ञानवर्धक और रिअलिटी के नज़दीक थी. 

इस मीटिंग के facilitator अमित दीक्षित सर थे,  तथा अमित सर ने साबित कर दिया की वह एक अच्छे लीडर हैं.  तथा उन्होंने Delhi SHG ने क्रेज्त क्वेश्चन, स्टोरी क्रिएसन, और रोल प्लेइंग जैसी एक्टिविटी को introduce किया जो की वाकई मज़ेदार और यूजफुल हैं, अमित सर हर मीटिंग से पहले मीटिंग को सक्सेसफुल बनाने के लिए अच्छी खासी मेहनत करते हैं और हर बार कुछ नया करने का प्रयास करते हैं,  इसके लिए अमित और अनूप सर को मेरी तरफ से हार्दिक धन्यवाद.  

आज की मीटिंग सफल रही और सभी ने एक दुसरे से काफी कुछ सीखा.

हम सभी ने सिकंदर , उमेश , प्रमेन्द्र , जगदीश , सौरभ , अजित , अभिषेक , और डॉ. तबिश जावेद को मिस किया.  आशा करते हैं की अगली मीटिंग में आप सभी हमारे साथ होंगे.
धन्यवाद

भवदीय 
jitender gupta प्रथम 
M.No. +917503189365
Mail ID- jitenderguptaa@gmail.com

12 comments:

sachin said...

बहुत सुन्दर...
यह ब्लाग अब सार्थक सिद्ध हो रहा है..
सभी की फोटुएँ बहुत अच्छी लगीं...
धन्यवाद !

Er. Umesh said...

Nice work Jitendera...photo bht pasand or aayi or tumhra likha hua bhi..Keep going!!

amit dixit said...

Its awesome Jitendra!!..Thas why i always love to read ur blogs.I specially want to mention Nitin & Sachin.Nitin uses bouncing wonderfully,I am impressed with sachin, how he uses bouncing and pausing together.The final round (role playing)was really awesome.In this round we got real time interview experiences.We all benefited by experience of Anup sir.congratulations jitendra and thanks.(:-)
pls koi muje bataye ki Hindi me comment kaise likhte hai.As there is no any option to write in hindi in comment box.

Jitender Gupta प्रथम said...

Google transliteration me roman me type kijiye jab vah devnagari me convert ho jaye to use copy kar ke comment box me paste kar dijiye.

Ajit chaurasiya(Mania) said...

awesome jitendra bro...:)
you are really talented and your writing skill is too good...
i salute you bro..you are one of special gem from my best champs circle..!!
maine bhi aap logo ko bahut miss kiya ..and report padhne ke baad lga ki mujhe ye meeting miss nahi karni thi :(
okay koi nahi next meeting me jarur milenge..keep writing.!!
:)

J P Sunda said...

बहुत ही बढ़िया मीटिंग और वुससे बढ़िया रिपोर्ट | जितेंदर आप बहुत बढ़िया लेखक हैं |

Jitender Gupta प्रथम said...

Thanx all of you for encouraging me.

Mohit kumar said...

i love those three points, i am trying to use those techniques but failed. Now i practice the techniques as you mention jitendra and also very good writing skill you have.
K e e p m o o v i n g..

abhishek said...

weldone amit , jitendra, anup sir and all participants you are really rocking.amit, in absent of other delhi shg member you taking iniciative and continue shg it show your sincerity, responsibility, and it show ur identity as a team leader.so keep it continue....HUMLOG RAHE NA RAHE LEKIN YE SHOW CHALTE RAHNA CHAYEA....

Anonymous said...

Well Done Amit. I really like and admire your sprit and now you are showing your real potential. You are wonderfully coordinating the SHG meeting and guiding our friends. It feels great to see that everyone is becoming a good team leader and coordinator. The credit goes to the members who support all the way and encourage us.

Jitendra! Again, It was great reading your report. You described every thing very beautifully. Keep it up and we are really proud of you.

Anonymous said...

Well Done Amit. I really like and admire your sprit and now you are showing your real potential. You are wonderfully coordinating the SHG meeting and guiding our friends. It feels great to see that everyone is becoming a good team leader and coordinator. The credit goes to the members who support all the way and encourage us.

Jitendra! Again, It was great reading your report. You described every thing very beautifully. Keep it up and we are really proud of you.

With regards
Sikander

amit dixit said...

धन्यबाद Abhishek !!! जीतेन्द्र हिंदी में लिखने का आपका तरीका काम कर रहा है..धन्यबाद