March 26, 2012

The Three F's Rule (Report of Delhi SHG, March 25, 2012)


(दायें से बाएं जगदीश, उमेश, जितेंदर, सौरव, प्रभात, सिकंदर, अमित, अभिषेक, अजित और अनिकेत)

आज की मीटिंग कुल १० लोगों ने हिस्सा लिया जिसके facilitator उमेश थे | सबसे पहले हम सबने अपना परिचय अपना Ambition बताते हुए दिया | तथा TISA DELHI SHG ने दो नए मेम्बर्स कमलेश्वर और अनिकेत की स्वागत किया|

आज उमेश ने एक छोटी कहानी के रूप में Three F's Rule के बारे में बताया , Three F का मतलब है FRIGHT(डरना ), FLY(भागना ) और FIGHT(लड़ना) | इस रुल का निष्कर्ष यह था की हमें किसी भी स्थिति से डरना(Fright), नहीं चाहिए और न ही किसी स्थिति से डरकर भागना (fly) चाहिए बल्कि हर स्थिति का डटकर सामना(fight) करना चाहिए क्योंकि जब भी हम किसी चीज से डरकर भागने की कोशिश करते हैं वह चीज हमें और डराती है | हम किसी स्थिति से भागकर उससे कुछ देर के लिए तो बच सकते हैं लेकिन हर परस्थिति में ऐसा करना संभव नहीं है | अर्थात हमें टालने का रवैया छोड़कर हर परस्थिति का डटकर सामना करना चाहिए | इसके लिए उमेश ने कुत्ते के व्यव्हार का उदारहण दिया जिसके अनुसार कुत्तों से डरकर हम जितना उनसे दूर भागने की कोशिश करते हैं वे उतना ही हमें डराते और दौड़कर कटाने की कोशिश करते हैं , लेकिन जैसे ही हम उनका सामना करने के लिए रुकते हैं तो वे दुम दबाकर भाग जाते हैं.|

आगे की बात शुरू करने से पहले हम सबने अपना-अपना एक motto तय किया की आज बात करते हुए हम किस ground rule को follow करेंगे, इसके बाद हम सभी ने अपने motto को follow करते हुए stammering से जुड़े अपने-अपने अनुभवों को शेयर किया | जिसमे कुछ मेम्बर्स के अनुभव तो बेहद funny थे|

कुछ देर तक हमने अपने-अपने fear word के विषय में बात की लगभग सभी के fear word अलग-अलग थे लेकिन मज़ेदार बात यह थी की लगभग सभी मेम्बर्स के नाम का पहला अक्षर उसके fear word में शामिल था, जिसके कारण हमें अपना नाम बोलने में ज्यादा दिक्कत होती है |


अंत में हम सबने सेंट्रल पार्क में लगे buddy bear की मूर्तियों को निहारा, इन सभी मूर्तियों पर विभिन्न देशों की लोक संस्कृतियों के सुन्दर दृश्य बड़े ही खूबसूरती के साथ बनाये गए हैं| इसके बाद लगभग सभी मेम्बर्स अपने घरो की ओर चल दिए, लेकिन मैं (जितेन्द्र) और जगदीश कुछ देर तक सेंट्रल पार्क में रुके रहे और सभी भालुओं को ध्यान से देखते रहे तथा जगदीश ने कुछ विदेशियों से बात की | मूर्तियों को देखने के बाद हम दोनों जंतर-मंतर पर भी गए जहाँ अन्ना का अनशन चल रहा था| हमने भी अन्ना को support किया | और उसके बाद हम दोनों भी अपने घर के लिए निकल लिए|
यह मीटिंग काफी बढ़िया रही और हम सभी ने एक दुसरे के अनुभवों से काफी कुछ सीखा, यह एक यादगार मीटिंग थी.

धन्यवाद

11 comments:

sikander said...

Thanks Jitendra posting karne ke liye. Sach mai bahut achchha likha aap nai. Aap Hindi shikhni padegi. Thanks Umesh for your valubale advice of F rules. I am sure, everyone is going to follow those rules. We are really proud of you. You coordinated the meeting very nicely and professionally and gave everyone full chance to express thier views. Thanks everyone for making it a successful and informative event. We really missed Nitin ji, Anoop ji, Jaipraksh, Pramendra Singh Bundela, Pinakin, Harshveer and others. We know due to busy schedule, they could not make it. We are sure, they will be joining us as soon as they get free.

With regards
sikander Singh

GORAV - THE STUTTERER said...

और जतींदर कैसे हो|तुम्हारा ब्लॉग पड़कर अच्चा लगा|हर हफ्ते इसी तरह हर हफ्ते "सेल्फ हेल्प मीटिंग में जाया करो |और ३ एफ रूले जो उमेश ने बताया है वो बहुत सही है और मैं उसपर काम कर रहा हूँ |

sachin said...

जितेन्द्र - बहुत बहुत धन्यवाद! आप सभी धन्यवाद के पात्र हैं ..कभी कभी इन्टरनेट से अच्छे लेख भी फोटोकौपी कर के बाँट सकते हैं और उसपे आपस में चर्चा कर सकते हैं। हर मीटिंग को रोचक बनाना एक चुनौती है- मगर बेहद मजेदार भी।
सचिन

Mohit kumar said...

This meeting is very interesting,very well written by you jitendra and our hero umesh is always doing some innovation in his life.Making life and stuttering interesting is always a very powerful tool.
Thank you.

J P Sunda said...

A good meeting and a superb report, I must say!

kamleshwar maurya said...

vry nice jitender.... mujhe 1st time ye meeting attend kr k bohot accha lga or kafi kuch shikhne ko mila...
thnx 2 all s.h.g members...

Er. Umesh said...

wow Jitender you write so good!! It reliefs me a too because someone took my job of writing blogs :-) Bas aise hi apne share ko baatate rahe or wo din dur nhi jab aap bhi delhi shg ki ek chamakte sitare honge..

abhishek said...

wow very good .............keep it up....

Jitender Gupta Pratham said...

मेरा उत्साह बढाने के लिए आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद

Jitender Gupta Pratham said...

मेरा उत्साह बढाने के लिए आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद

saurabh agarwal said...

jitendra u r doing a very good job.
keep it up.